International Yoga Day  अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 2022 21 June 2022

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस की शुरुआत भारत में हुई थी, इसका आयोजन पहली बार 21 जून 2015 को दिल्ली में किया गया था, जहां देश के नागरिकों के अलावा 84 देशों के नागरिकों ने इस योग दिवस की शुरुआत की थी.

हमारे देश के  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने इस के लिए संयुक्त राष्ट्र महासभा में 27 सितंबर 2014 को एक अभिभाषण दिया और इसका प्रस्ताव रखा

कैसे हुई शुरुआत ?

 जिसे ९० दिन से भी कम के समय में १७७ देशो का समर्थन प्राप्त हुआ और इससे एक अंतरार्ष्ट्रीय दिवस के तौर पर २१ जून २०१५ से मानाने की स्वीकृति मिली।

कैसे हुई शुरुआत ?

योगा का महत्व ?

योग सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होता है। एकाग्रता मन की शांति ,आपका आत्मविश्वास और साहस को बढ़ाता है। शारीरिक तनाव भी कम रहता है।

योगा का महत्व ?

नियमित योग करने से कई बीमारियों से छुटकारा पाया जा सकता है जिसमे से अवसाद, मोटापा, हाई ब्लूफ़ प्रेशर और शुगर आदि शामिल है। योग की शुरुआत भारत से ही हुई है।

योग करते समय जरुरी बाते। 

1 ) नियमित तौर पर योग करे जरुरत से ज्यादा योग ना करे। 2 ) योग करते समय अगर तकलीफ होती है तो योग गुरु से सम्पर्क करे।

योग करते समय जरुरी बाते। 

3 ) गलत योग ना करे योग गुरु से प्रशिक्षण ले सकते है। 4 ) शुरुआत में हलके फुल्के ही योग करे

International Yoga Day की रोचक बातें। 

अब तक 7 योग दिवस हो चुके हैं, यह 8वां योग दिवस होगा।

21 जून को ग्रीष्म की सक्रांति भी कहते है समय के हिसाब से इस दिन सूरज की किरणे आम दिनों के मुकाबले ज्यादा समय तक रहती है। 

International Yoga Day की रोचक बातें। 

हर योग दिवस की अलग थीम होती है इस बार 2022 की थीम है Yoga for Humanity मतलब मानवता के लिए योग।

SOME YOGA POSES